हाथरस गैंगरेप कांड के आरोपियों ने पुलिस अधीक्षक (एसपी) को चिट्ठी लिखकर खुद को बेकसूर बताया है और दावा किया है कि पूरा मामला ऑनर किलिंग का है.

इस पर पीड़िता की भाभी, मां और पिता ने आजतक से खास बातचीत में कहा कि हमारे खिलाफ साजिश की जा रही है. भाभी ने कहा कि उसको (पीड़िता) चुपके से जला दिया. अब हम लोगों को जहर दे दो.

वहीं, दो आरोपियों रामू और रवि की मां ने आज तक से बातचीत में कहा कि हमारे दोनों बेटे निर्दोष हैं. उनको बाद में फंसाया गया है.

चिट्ठी में जो लिखा है, वह सही होगा लेकिन हमने यह नहीं देखा है कि वह कब मिलने जाते थे और कब नहीं जाते थे. गौरतलब है कि मुख्य आरोपी संदीप ने आज एसपी हाथरस को एक चिट्ठी लिखी है.

वहीं, एक और आरोपी लवकुश की मां ने आजतक से बातचीत में कहा कि उनका बेटा निर्दोष है. मेरे बेटे ने सिर्फ और सिर्फ पीड़ित लड़की को पानी पिलाया था.

उनका कहना है कि चिट्ठी में जो आरोप लगा है, वो सही है. लड़की को उसकी मां और भाई ने ही मारा है. मेरे बेटे निर्दोष हैं और इसमें निष्पक्ष जांच होनी चाहिए.

आरोपी संदीप ने चिट्ठी में लिखा है कि पीड़िता के साथ मेरी दोस्ती थी. मुलाकात के साथ मेरी कभी-कभी उससे फोन पर बात हो जाती थी. मेरी यह दोस्ती उसके घर वालों को पसंद न थी.

घटना के दिन पीड़िता ने मुझे मिलने के लिए खेत में बुलाया था, जब मैं वहां गया तो पीड़िता के साथ उसकी मां और भाई मौजूद थे.

अपने चिट्ठी में आरोपी संदीप ने कहा कि पीड़िता के कहने पर मैं अपने घर चला गया. अपने पिता के साथ पशुओं को पानी पिला रहा था, तभी मुझे खबर मिली कि पीड़िता की मां और उसके भाई ने पिटाई की है.

उसे गंभीर चोट आई थी. बाद में उसकी मौत हो गई. संदीप ने कहा कि मैंने कभी भी पीड़िता तो मारा नहीं है और न ही कोई गलत काम किया.

संदीप का कहना है कि इस मामले में हम निर्दोष हैं. मेरे रिश्तेदार रवि और शमू को भी फंसाया गया. साथ ही लवकुश का नाम भी डाला गया है.

हम चारों निर्दोष हैं और पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की मांग करते हैं. हाथरस जेल अधीक्षक ने चिट्ठी लिखे जाने की पुष्टि की है. हालांकि, अभी तक एसपी की ओर से कोई बयान नहीं आया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here