IPL : दिल्ली से हार कर मुंबई मुश्किल में

IPL : दिल्ली से हार कर मुंबई मुश्किल में

आईपीएल 2021 लीग राउंड में अब नौ मैच बचे हैं। राजस्थान रॉयल्स ने चेन्नई सुपर किंग्स को हराकर प्लेऑफ की जंग और दिलचस्प कर दी है। राजस्थान को अब बाकी बचे दो मैच हार हाल में जीतने होंगे। वहीं, दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ हार से मुंबई इंडियंस की प्लेऑफ में पहुंचने की राह मुश्किल हो गई है।

चेन्नई और दिल्ली की टीम पहले ही आईपीएल 2021 के प्लेऑफ में पहुंच चुकी है। वहीं, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को बाकी बचे तीन मैचों में सिर्फ एक जीतना है। ऐेसे में अब मुकाबला केवल चौथी टीम के लिए है। इसके लिए जो चार टीमें लाइन में हैं- कोलकाता नाइटराइडर्स, मुंबई इंडियंस, पंजाब किंग्स और राजस्थान रॉयल्स। सनराइजर्स हैदराबाद की टीम पहले ही इस दौड़ से बाहर हो चुकी है। 

1. चेन्नई सुपर किंग्स (प्लेऑफ के लिए क्वालिफाई): आईपीएल 2020 में खराब प्रदर्शन के बाद इस सीजन टीम ने जबरदस्त वापसी की है। पिछले सीजन सबसे पहले बाहर होने वाली टीम इस सीजन सबसे पहले प्लेऑफ में पहुंचने वाली टीम बनी। चेन्नई ने अब तक 12 आईपीएल खेले हैं, जिसमें वह रिकॉर्ड 11 बार प्लेऑफ में पहुंची है। राजस्थान के खिलाफ हार से भी टीम को कोई फर्क नहीं पड़ा और टीम शीर्ष स्थान पर बनी हुई है। अगले दो मैच: दिल्ली कैपिटल्स और पंजाब किंग्स के खिलाफ।

2. दिल्ली कैपिटल्स (प्लेऑफ के लिए क्वालिफाई): मुंबई के खिलाफ जीत से पंत की टीम भी लीग राउंड को टॉप-2 में रहते हुए खत्म करने की स्थिति में है। टीम के 12 मैचों के बाद 18 अंक हैं। नेट रन रेट के मामले में दिल्ली टीम चेन्नई से पीछे है। यह लगातार तीसरी बार है जब दिल्ली अंतिम चार में अपनी जगह पक्की करने में कामयाब हुआ है। 2019 में टीम एलिमिनेटर में बाहर हुई थी। वहीं, 2020 में टीम फाइनल तक पहुंची थी। इस बार दिल्ली कैपिटल्स जीत के प्रबल दावेदारों में से एक है। अगले दो मैच: चेन्नई सुपर किंग्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ।


3. रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (प्लेऑफ में पहुंचने के लिए तीन में से एक जीत जरूरी): रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने इस सीजन शानदार खेल दिखाया है। अपने शुरुआती चार मैच जीतने के बाद पहले फेज में टीम जीत की पटरी से उतर गई थी। यूएई में भी टीम को लगातार तीन मैचों में हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद कोहली की टीम ने वापसी की और मुंबई और राजस्थान के खिलाफ लगातार दो मैच जीते। बैंगलोर के फिलहाल 11 मैचों में 14 अंक हैं। पूरी संभावना है कि टीम प्लेऑफ में पहुंचेगी। यह देखने वाली बात होगी कि कोहली की टीम तीसरे स्थान पर रहती है या दूसरे स्थान पर। बैंगलोर पिछले सीजन भी प्लेऑफ में पहुंची थी, जहां एलिमिनेटर में उन्हें हैदराबाद के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। अगले दो मैच: दिल्ली कैपिटल्स और सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ।

4. कोलकाता नाइटराइडर्स (प्लेऑफ में पहुंचने के लिए दो में से दो जीत जरूरी): पंजाब के खिलाफ पिछले मैच में हार से कोलकाता की राह भी मुश्किल हो गई है। टीम के फिलहाल 12 मैचों में 10 अंक हैं और अंक तालिका में चौथे नंबर पर है। प्लेऑफ में पहुंचने के लिए केकेआर को पहले अपने बाकी बचे दोनों मैच हार हाल में जीतने होंगे। साथ ही यह उम्मीद करनी होगी कि मुंबई, पंजाब और राजस्थान अपने बाकी बचे दोनों मैच बड़े अंतर से नहीं जीतें। अगले दो मैच: सनराइजर्स हैदराबाद और राजस्थान रॉयल्स।


5. मुंबई इंडियंस (प्लेऑफ में पहुंचने के लिए दो में से दो जीत जरूरी): प्लेऑफ और डिफेंडिंग चैंपियन मुंबई के बीच दूरी बढ़ गई है। दिल्ली के खिलाफ हार ने मुंबई के सभी समीकरण को बिगाड़ के रख दिया। मुंबई के फिलहाल 12 मैचों में 10 अंक हैं और टीम अंक तालिका में सातवें स्थान पर है। टीम को प्लेऑफ में पहुंचने के लिए दोनों मैच जीतने की जरूरत है। इसके बावजूद टीम की जगह पक्की होती नहीं दिख रही है। कोलकाता, पंजाब और राजस्थान के मुकाबले

टीम का नेट रन रेट काफी कम है। मुंबई को अब कोलकाता, पंजाब और कोलकाता के मैचों पर भी निर्भर रहना होगा। तीनों में से जो टीम अपने दोनों मैच जीतने में कामयाब होती है, तो वह क्वालिफाई कर जाएगी। वहीं, मुंबई इंडियंस टूर्नामेंट से बाहर हो जाएगा। अगले दो मैच: राजस्थान रॉयल्स और सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ।


6. पंजाब किंग्स (प्लेऑफ में पहुंचने के लिए दो में से दो जीत जरूरी): पंजाब की टीम 12 मैचों में पांच जीत और 10 अंकों के साथ अंक तालिका में पांचवें स्थान पर है। टीम अब भी प्लेऑफ में पहुंच सकती है। इसके लिए उन्हें अपने बाकी बचे दोनों मैच जीतने होंगे। साथ ही आशा करनी होगी कि मुंबई, कोलकाता और राजस्थान उनके बाकी बचे दो मैचों में से एक हार जाए। ऐसा हुआ तो पंजाब की जगह प्लेऑफ में पक्की हो जाएगी। अगले दो मैच: रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ।


7. राजस्थान रॉयल्स (प्लेऑफ में पहुंचने के लिए दो में से दो जीत जरूरी): राजस्थान ने चेन्नई को हराकर खुद को प्लेऑफ की दौड़ में बनाए रखा है। आरआर को प्लेऑफ में पहुंचने के लिए अगले दोनों मैच भी हर हाल में जीतन होगा। इसमें से टीम एक भी मैर हारी, तो रेस से बाहर हो जाएगी। हैदराबाद और बैंगलोर के खिलाफ लगातार दो मैचों में हार से टीम की स्थिति बिगड़ गई है। अगले दो मैच: मुंबई इंडियंस और कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ।


8. सनराइजर्स हैदराबाद (प्लेऑफ की दौड़ से बाहर): हैदराबाद की टीम पहले ही अंतिम चार की दौड़ से बाहर हो चुकी है। अब टीम के पास दूसरी टीमों के मजे को किरकिरा करने का मौका है।