डीआरडीओ और एमरनटौस इन्फ्राटेक के मिलीभगत की एसआइटी से जांच हो - बमबम महाराज नौहटिया

डीआरडीओ और एमरनटौस इन्फ्राटेक के मिलीभगत की एसआइटी से जांच हो - बमबम महाराज नौहटिया

अटल जन शक्ति पार्टी के राष्ट्रीय प्रभारी बम बम महाराज नौहट्टिया ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सहित समस्त केन्द्रीय मंत्रिमंडल भारत सरकार से डी आर डी ओ आवासीय काम्प्लेक्स तीमारपुर दिल्ली के निर्माण कार्यों में डी आर डी ओ के परियोजना प़बंधक कर्नल डी के शर्मा और कर्नल ए लाल की ठेका एवार्ड प्राप्त कंपनी एमरनटौस ईनफ़ाटेक प़ाईवेट लिमिटेड के प्रबंधक अजीत वाल्यान के साथ मिलीभगत कर मजदूरों के हकों के साथ खिलवाड़ करने और कई कई  महीने का मजदूरी नहीं देने, लाकडाऊन का और प्रदूषण का मजदूरी व सरकार द्वारा प्रदत्त दस हजार रूपए की सहायता राशि नहीं देने सहित पी एफ ,

निर्माण बोर्ड में निबंधन व ठेका कार्य करने के लिए मजदूरों के संबंध में जो श्रम विभाग से ठेका मजदूर प़माण लिया जाता है वह सभी कुछ भी नहीं लेने और बगैर कानून का पालन किए काम कराने और फिर काम कराकर  मजदूरी का भुगतान नहीं करने और नहीं कराने के विरुद्ध  रक्षामंत्री सहित केन्द्रीय मंत्रिमंडल भारत सरकार से इस मामले की जांच हेतु एसआईटी गठित कर करने की मांग  की गयी है और मजदूरों को उनका अर्जित बकाया मजदूरी सहित अन्य बकाया हक की मजदूरी का भुगतान कराने की भी मांग किया है।


अटल जन शक्ति पार्टी के समर्थन से समाजवादी लेबर फ्रंट के द्वारा बम बम महाराज नौहट्टिया ने उपरोक्त ज़बाब देह अधिकारियों को और ठेका एवार्ड प्राप्त कंपनी को मांग पत्र भी दिया है किन्तु उसका कोई भी ज़बाब नहीं दिया गया है।


अटल जन शक्ति पार्टी को मिले सूचना के अनुसार जो कार्य डी आर डी ओ की तीमारपुर आवासीय काम्प्लेक्स के निर्माण का ठेका एवार्ड एमरनटौस इन्फ्राटेक प्राईवेट लिमिटेड को विभाग ने जिस टेंडर की शर्तों पर जारी किया है उन शर्तों के अनुसार ठेका कंपनी एमरनटौस ईनफ़ाटेक ने कार्य नहीं किया है और नहीं ठेका एवार्ड के अनुसार मेटेरियल ही प्रयोग किया है। किन्तु सब कुछ जानते हुए परियोजना प्रबंधक कर्नल डी के शर्मा और कर्नल ए लाल की और ठेका कंपनी की आपसी  मिलीभगत के कारण ठेका एवार्ड के विपरित ठेकेदार ने तीमार पुर आवासीय कम्पलैक्स के निर्माण में धांधली किया है।जो सही नहीं कहा जा सकता है अतः उसकी भी एस आई टी गठित कर जांच उपरांत कारवाई करने की मांग अटल जन शक्ति पार्टी सरकार से करती है।


आखिर किसी भी प्रकार से आपसी सहमति से सिर्फ सरकार का धन का शोषण नहीं किया गया है बल्कि जिस अधिकारी और जनता के लिए यह आवासीय परियोजना का निर्माण किया गया है उसके लिए भी यह खतरनाक साबित हो सकता है।

इस प्रकार के किसी भी मिलीभगत का समर्थन नहीं किया जा सकता है। समाजवादी लेबर फ्रंट की सरकार से मांग है कि वो समस्त लेबर जमादार सहित सभी मजदूरों की अर्जित बकाया मजदूरी का भुगतान तत्काल प्रभाव से उपरोक्त विभाग और ठेकेदार में से किसी भी एक से कराने की सख्त से सख्त कार्रवाई करें।ताकि मजदूरों को मजदूरी के लिए अन्य कोई भी धरना प्रदर्शन भूख हड़ताल नहीं करना पड़ जाए।

जिन मजदूरों का अर्जित मजदूरी बकाया है उनका नाम इस प्रकार है।
लेबर जमादार प्रवीन कुमार, मनोज कुमार, मोहम्मद खुसफूजदा, बिक्रम सिंह, नफासत, हासन अली और राम प़वेश शर्मा ।


इन सभी लेबर जमादारों सहित उन लेबर जमादारों के द्वारा विभिन्न अलग अलग निर्माण से संबंधित निर्माण कार्यों के लिए लगाए गए निर्माण श्रमिकों

जिसका की नाम इस प्रकार है--


मनोज, विनोद, रंजीत, रंजीत -2, अमरेंन्द्र, जितेंद्र, प्रवीन, गोपी, गोपाल, रोहित, प्रदीप, लालू, रवीन्द्र, रामबालक, रमेश, पासम, सामती, पूजा, विकास, कमलेश, मनीष, दीपा, संजय, अनीता, गोविंद, प्रमोद-2, कलावती, रामदीन, अजय, पप्पू,छोटू, संगीता, रोहित-2,विक्रम संतोष,बिक्की,मुख्तार, शकील, लोमान, मेराज, कशकुद्दीन, गुलकराज, रब्बानी, प्रवीन, कोसार, केकेया, गुट्टू, बीजे, फैसल, जासीम, सलाम, रहीम, वहद, प्रेमचंद मिश्रा, अब्दुल्लाह, गोलू, दिनेश, दिनेश-2,राजू, शिबा, गुलशन, हरिश्चंद्र, राजेंद्र, सुनील, फुल्ली, चंद्रशेखर, राजकुमार, रामकुमार, दरोगा, किशन, शोएब, अरबाज, अरमान, गुड्डू, बबलू, शगील, सदाब, मुनसर अली, आदिल, दिलशाद, कासीम, अल्ताफ,नसीम, तारीक, कैफ, जुनाली, सकलज, सगीर, करमा, आदिल, आदिल-2, आरिश, मोनेश, नईम, मुशरिक, फाईम, प्यारे, आरिक, आशिक, अमर, रिहान, अदनान, सद्दाम, सुभान, सलमान, नफासत, राम प्रकाश शर्मा, राम कुमार, किपान, हरि, रोहित-2, गोपाल-2, बिकास कुमार, बिकास-2,हासन अली, लालचंद्र, सोमल, मंजुर, आलम, आजाद, मसिकुल, सिराज, कुरगन, जमीरूद्दीन, विनोद, सैदुल है। DDS